रविवार, 29 अप्रैल 2012

मेरी ख्वाहिशें ,उसकी इनायतें

                                                                                  (image:123rf.com)
                                      "मेरी ख्वाहिशों  की जो कोई हद नहीं तो मेरा कसूर क्या है
                                        तू ही बता ऐ खुदा तेरी इनायतों का दायरा क्या है......"


6 टिप्‍पणियां: